नोट बंदी के बाद बचे हुए पुराने नोटों का क्या हुआ

,जानने के लिए पोस्ट पर क्लिक करे

Play Sound

Information : नोटबंदी हमारे देश में लिए गए हम फैंसलों में से एक बोहोत ही अहम् फैंसला था इस फैंसले से न केवल देश का फायदा हुआ अपितु हमारे देश में कर्रप्शन कम करने में भी इसका बड़ा योगदान रहा . पर क्या आप जानते है इस फैंसले के बाद रद्दी बन चुके पुराने नोटों का क्या हुआ आइये हम आपको बताते है . चेन्नै की एक जेल में उम्र कैद की सजा काट रहे कैदी नोटबंदी के बाद चलन से बाहर हुए पुराने नोटों को शानदार तरीके से उपयोग में लाने का काम कर रहे हैं। वे टुकड़े-टुकड़े में कटे इन नोटों को स्टेशनरी के सामान में बदल रहे हैं। 25 से 30 कैदियों का एक दल इन पुराने नोटों से स्टेशनरी का सामान बनाने में लगा है .

भारतीय रिजर्व बैंक ने नोटबंदी के बाद चलन से बाहर हुए टुकड़ों में फटे 70 टन नोट देने की पेशकश की थी। इसमें से 9 टन पुजहल जेल में भेजे गए जिनमे से 1.5 टन नोटों का अभी तक इस्तेमाल हो चूका है और इससे बानी स्टेशनरी का सामान विभागों और एजेंसी में हो रहा है . महीने में २५ दिन ये काम चलता है और हर मजदूर को इसके लिए 160 से ले कर 200 रुपएतक मेहनताना मिलता है जो की कैदी की परफॉरमेंस पे निर्भर करता है .

155