देसी घी है दिल के मरीजों के लिए रामबाण

,कलेस्ट्रॉल कम कर दिल को तंदरुस्त रखता है देसी घी

Play Sound

Information : देसी घी वैसे तो भारत में हर रसोई में मिल ही जायेगा . पर आज कल लोगो में फिट रहने ही होड़लगी हुई है . जिसके चलते लोग देसी घी को अपनी रसोई से दूर कर रहे है ! पर क्या आप जानते है देसी घी जिसे आज कल लोग खाने से डरते है और सोचते है देसी घी खाने से फैट बढ़ता है दरअसल ऐसा कुछ भी नहीं है और देसी घी खाने से फैट नहीं बढ़ता बल्कि इसका रोज सेवन करने से शरीर को कई तरह से फायदा मिलता है . विटमिन से भरपूर देसी घी न सिर्फ सेहत के लिए ही बल्कि स्किन और बालों के लिए भी बहुत फायदेमंद है। अगर आयुर्वेद के हिसाब से देखा जाये तो देसी घी पित का शमन करता है और इसका सेवन सर्दियों में करना शरीर के लिए बोहोत फायदे मंद होता है . पर लोग इसे सिर्फ रसोई में सवाद बढ़ाने का सामान समझे है और इसके फायदों को नज़र अंदाज़ करते है .

कहते है जिस इंसान को गठिया की शिकायत हो उसके लिए देसी गहि वरदान से कम नहीं है इसका सेवन करने से मरीज को राहत मिलती है और साथ में ही देसी घी से मालिश करने से मरीज को फायदा भी मिलता है . देसी गहि का गुनगुने ( हलके गरम पानी में सेवन करने थकान दूर हो जाती है और हल्का गरम घी नाक में डालने से खर्राटे भी बंद हो जाते है रात को सोते वक़्त और सुबह खली पेट गाये का घी और काली मिर्च मिला कर खाने से आँखों की रौशनी तेज़ होती है . दिल के मरीज़ के लिए भी ये काफी फायेमंद होता है गाये के देसी घी में सैचुरेटेड फैट होते है जिसकी वजह से ये पचने में भी आसान होता है . देसी घी में मौजूद विटमिन और पोषक तत्व हडियो को मजबूत बनाते है देसी घी हमारी त्वचा के लिए भी काफी लाभकारी है देसी घी में ऐंटिऑक्सिडेंट होते है जिससे त्वचा में रंगत आती है और इसकी मसाज करने से चेहरे पर झुरिया भी नहीं पड़ती

115