टांगी धाम में है भगवान परशुराम का फरसा

,जिससे उन्होंने किया था क्षत्रियो का नाश

Play Sound

Information : भारत चमत्कारों से भरा देश है यहाँ कई तीर्थ स्थल है जिनसे लोगो की आस्था जुड़ी हुई है .झारखंड राज्य में एक ऐसा है धाम है जिससे लोगो की आस्था जुडी हुई है यहाँ आज भी भगवान परशुराम फरसा रखा है जिससे उन्होंने क्षत्रियो का नाश किया था झारखण्ड की क्षेत्रीय भाषा में फरसा को टांगी कहा जाता है

टांगीनाथ धाम, झारखंड राज्य मे गुमला शहर से करीब 75 km दूर तथा रांची से करीब 150 km दूर घने जंगलों के बीच स्थित है। कहा जाता है के एक बार कुछ लोहार जाती के लोगो ने इस फरसा को लोहे के लालच में काटना शुरू किया पर कुछ दिन बाद उस गांव के लोहार जाती के लोग मरने शुरू हो गए इसलिए लोहार जाती के लोग इस क्षेत्र से 15 km दूर ही बस्ते है . इस क्षेत्र से जुडी मान्यता है के जब भगवान राम ने शिव का धनुष स्वयम्बर में तोड़ दिया था तो क्रोधित हो कर भगवान परशुराम ने राम भगवान को बोहोत भला बुरा कहा था ये देख लक्ष्मण का उनसे विवाद हो गया और इसी विवाद में उन्हें ज्ञात हुआ के राम भगवान विष्णु के ही अवतार है . ये जान वो बोहोत लज्जित हुए और उन्होंने दूर जंगल में जा कर शिवलिंग की स्थापना की और अपना फरसा जमीन में गाड़ दिया और तप किया . ये क्षेत्र चारो और से जंगलो से घिरा हुआ है और यहाँ नक्सलवादियों की वजह से भी लोगो का आना जाना कम ही है पर इस क्षेत्र से हिन्दू धर्म से जुडी आस्था है .

368