क्या आप जानते है दुनिया की सबसे रहस्मयी शैतानी किताबों के बारे में

,मजूर दिल वाले न पढ़े

Play Sound

Information : हम सभी बाइबिल के बारे में जानते है , ये एक ऐसे ग्रन्थ है जिससे मानव कल्याण के लिए लिखा गया था इस ग्रन्थ में ईसा मसीह की शिक्षाएं लिखी है और बाइबिल स्वयं ईश्वर का लिखा ग्रन्थ है.

पर क्या आप जानते है की इश्वर द्वारा लिखी बाइबिल के अलावा भी एक बाइबिल खोजी गयी है. जिसका रहस्य आज तक बना हुआ है | इस किताब को शैतान की बाइबिल कहा जाता है. कहते है ये बाइबिल शैतान के आदेश पर लिखी गयी थी | कहते है ये पुस्तक हर मायने में बहुत खास है और ये किताब स्वीडन के राष्ट्रीय पुस्तकालय में संरक्षित है | अगर इस किताब के आकर की बात करे तो ये प्राचीन बाइबिल मध्ययुगीन किताबों में सबसे बड़ी है और इसमें कागज़ की जगह चर्मपत्रों का उपयोग किया गया है जिसकी संख्या करीब 160 चर्मपत्रों है | इस किताब का आकर बहुत बड़ा है और वजन करीब 85 किलोग्राम है जिससे की इसे खोलने और उठाने के लिए कम से कम दो व्यक्तियों की ज़रूरत पड़ती है | कहते है इस बाइबिल में वो सब भी है जो ईसाई बाइबिल में है लेकिन इस शैतान की बाइबिल में सबसे ज्यादा अस्चर्य बात तो यह है की इस पुस्तक की शुरुआत में ही एक विशाल चर्मपत्र पर शैतान का चित्र बनाया गया है | कहा जाता है कि इस पुस्तक को 13वीं सदी में लिखा गया था और सिर्फ एक रात में लिखा गया था कहते है की शैतान ने एक व्यक्ति को अपने वश में करके एक रात में ही ये विशाल पुस्तक लिखवाई थी. शोधकर्ता हमेशा से ही इस एक रात में इस पुस्तक की लिखी जाने की बात को इनकार करते आये थे वो कहत थे इतनी बड़ी पुस्तक लिखने के लिए उस समय की तकनीक के अनुसार कम से कम 30 वर्षों का समय लगना चाहिए. लेकिन जब इस किताब पर जहां शोध हुआ तब शोधकर्ता भी अचम्भे में आ गए | उन्होंने कहा की यह पुस्तक एक ही व्यक्ति ने लिखी है और बहुत ही थोड़े समय में लिखा गया है. उन्होंने यह भी बताया की कोई कैसे ३० साल तक लगातार एकदम एक जैसी हैंडराइटिंग में लिख सकता है यह तो असंभव बात है | नेशनल जिओग्राफिक के शोधकर्ताओं ने बतया की यदि इस पुस्तक का लेखक दिन रात बिना रुके भी काम करता तो भी उसे कम से कम 25 वर्ष लगते इस बाइबिल को पूरा करने में. लेकिन अक्षरों की सम्मिति और लिखावट ऐसी है कि लगता है ये पुस्तक बहुत कम समय में पूरी की गयी थी. इसका मतलब साफ़ था की यह शैतान की बाइबिल को लिखने में कहीं ना कहीं किसी काली शक्ति का हाथ था क्योंकि किसी साधारण मनुष्य के लिए इतनी विशाल पुस्तक इतने कम समय में लिखना असम्भव है. दोस्त इस रहस्मयी शैतान की बाइबिल के पीछे का सच क्या है, आखिर ये पुस्तक किसने लिखा था और किस मकशद से लिखा था, आखिर इस किताब को इतना बड़ा और इतना वजनी क्यों बनाया गया था | आखिर क्यों इस पुस्तक के पहले पृष्ठ पर बने शैतान की आकृति हमे क्या दर्शन चाहती है यह अभी तक एक रहस्य है.

396