कैसे बदले आपने दुर्भाग्य को सौभाग्य में

,सिर्फ 2 दिन में बदल जायेगा आपका भाग्य

Play Sound

Information : हमारा जीवन संघर्षो से भरा रहता है संघर्ष हार किसी के जीवन में आते है पर जब जीवन में कुछ भी पाने के लिए बोहोत संघर्ष करना पड़ता है ! तो निश्चित तोर पर इसका उपाए करना चाहिए . सनातन धर्म में ऐसे बोहोत से टोटके और उपाए बताये गए है जिन्हे करने से दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदला जा सकता है ये फिर प्रभाव कम किया जा सकता है . आज हम आपको कुछ ऐसे ही उपायों के बारे में वतायेंगे जिनका नित नियम से पालन करे तो आपके हाथो की सौभाग्य की सोई हुई लकीरे जाग जाएँगी .

नित नियम से सुबह सूर्य को जल चढ़ाने से सोया हुआ भाग्य जाग जाता है और इससे हमारे शरीर में ऊर्जा का प्रभाव भी बढ़ जाता है . सनातन धरम से सूर्य नमस्कार को हमेशा से ही हम माना गया गया है . अगर आपका कोई भी काम नहीं बनता और बनता हुआ काम बिगड़ जाता है तो आप रोज सुबह उठ कर एक रोटी को अपने उप्पर 30 बार वारे और उसके पश्चात् किसी काले कुत्ते को खिला दे या जल प्रवाहित कर दे . हर मंगलवार को हनुमान चालीसा का पथ करे और बजरंग बाली के मंदिर में तिल के तेल का दिया जलाये जिन लोगो का व्यापर नहीं चल रहा वो लोगो बुधवार के दिन तोता खरीद कर लाये और तोते को आजाद करे ऐसा करने से आपका व्यपार चलेगा . शनिवार के दिन शनि देव को तिल , माह और सरसों का तेल चढ़ाये ऐसा करने से शनि देव परसान होने और ओर आपके रस्ते में आने वाली रुकावट कम होंगी मंगलवार के दिन भूखो को खाना खिलाये और यदि ऐसा करना संभव न हो तो चींटियों को आटा और मीठा खिलाये ऐसा करने से आपका सोया भाग्य जागेगा और आपके घर में कभी समृद्धि आएगी किसी फ़कीर को गुड़ दान करने से भी सोया हुआ भाग्य जगता है . किसी बावड़ी या फिर किसी कुए के पास पीपल का पेड़ लगाए और उस पीड़ के बड़ा होने तक उससे रोज़ पानी दे ऐसा काने से दुर्भाग्य सौभाग्य में बदलेगा सनातन धर्म से गणेश जी को प्रथम पूजनीय माना गया है किसी भी मंगल कार्य को करने से पहले गणेश पूजन करना अति आवश्यक है इसलिए सुबह उठते ही दिन की सुरवात करने से पहले गणेश जी का ध्यान करे और पूजा करे ऐसा करने से आपका दिन मंगल मई जायेगा घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश न हो या नकारात्मक ऊर्जा घर से बहार जाये इसके लिए नित नियम से शाम को गूगल धुप जलाये !

160